जो भी समस्याएं अभी तक सामने आई है उन्हें कलेक्टर महोदय और संबंधित अधिकारियों के समक्ष रखेंगे – सिद्धार्थ मलैया

इस न्यूज़ को सुनें

जो भी समस्याएं अभी तक सामने आई है उन्हें कलेक्टर महोदय और संबंधित अधिकारियों के समक्ष रखेंगे – सिद्धार्थ मलैया

 

जनसंवाद के बीच सिद्धार्थ ने डेरे से बनाई कास की रस्सी

 

जनसंवाद यात्रा-2 का आज था अंतिम दिन

 

दमोह – जनसंवाद यात्रा के दूसरे चरण का आखिरी दिन है जो बलारपुर में समाप्त होगा अभी तक की जन संवाद यात्रा में जनपद पंचायत, जल निगम, जल संसाधन विभाग और शिक्षा विभाग को लेकर जो भी समस्याएं और शिकायत सामने आई हैं उन सभी का संकलन कर कलेक्टर महोदय, जनपद पंचायत सीईओ, जल निगम के अधिकारी और सभी संबंधित अधिकारियों के समक्ष रखेंगे। कोशिश करेंगे कि जो भी छोटी-छोटी समस्याएं हैं उन सभी का एक समावेशी तरीके से समाधान किया जा सके। यहां बरखेड़ा में श्री शनि मंदिर स्थित है और आज शनिवार का दिवस भी है तो निश्चित तौर पर कह सकते हैं कि आज का दिन बहुत ही अच्छा और शुभ है जनसंवाद यात्रा के दूसरे चरण के अंतिम दिन सिद्धार्थ मलैया ने अपनी बात रखी।

सिद्धार्थ मलैया द्वारा निकाली जा रही जनसंवाद पैदल यात्रा के द्वितीय चरण के चौथे दिन और अंतिम दिन यात्रा का प्रारंभ ग्राम रियाना में भोले बाबा और खेर माता मंदिर में जल अर्पण कर एवं प्रभु का आशीर्वाद प्राप्त कर की। वहीं बरखेरा में श्री शनि मंदिर में दर्शन किए बलालपुर में डॉ अम्बेडकर प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। ग्राम रियाना के बाद यात्रा हलगल, हलगजिया, हिनौती गडरिया, छितरा, बरखेड़रा, एरोरा, खैरी होते हुए बलालपुर में समाप्त होगी।

जनसंवाद यात्रा के दौरान हिनौती गड़रिया में सिद्धार्थ मलैया को एक वृद्ध डेरे से कास की रस्सी बनाते हुए दिखाई दिया जिज्ञासा वर्ष सिद्धार्थ मलैया ने वृद्ध से रस्सी बनाने का तरीका पूछा और स्वयं ने भी कुछ देर डेरे से रस्सी बनाई साथ ही कहा कि इस कास की रस्सी का उपयोग खाट बुनने में किया जाता है जो कम ही देखने को मिलती है इस प्रकार रस्सी बनाना बहुत कम देखा जाता है गांव में भी यह बहुत कम ही देखने को मिलती है।

सिद्धार्थ मलैया द्वारा तपती धूप में जनसंवाद यात्रा को पैदल ही निकाला जा रहा है जहां लोग कुछ ही देर में धूप से हलाकान हो जाते हैं वही सिद्धार्थ मलैया द्वारा पहले चरण में 4 दिन और दूसरे चरण के चौथे दिवस भी निसंकोच यात्रा की जा रही है उनके साथ तमाम साथी भी निरंतर यात्रा कर रहे।

 

जनसंवाद यात्रा-2 के अंतिम दिन रमन खत्री, मनीष तिवारी, अभिलाष हजारी, अजय सिंह, संतोष रोहित, पप्पू सिंह हलगज, गुलाब सिंह, हरि सिंह, कीरत विश्वकर्मा, प्रकाश सिंह, जाहर सिंह, हुकुम सिंह, हाकम सिंह, गोकुल सिंह, शारदा अहिरवार, गुड्डू अहिरवार, लोकेन्द अहिरवार, जुगराज राठौर, कल्लू सिंह, देवी सिंह, नन्हे भाई चौधरी, दुर्योधन यादव, राजकुमार यादव, रूपराम पटेल, नन्हे भाई पटेल, सुरेंद्र पटेल, छोटू वर्मन, रमेश जैन, राजेश कोरी, चक्रेश जैन, भूपत अठ्या, देवेंद्र जैन छक्की, दिनेश राठौर, बृजेन्द्र तिवारी, मयंक वाधवा, परशु सोनी, आशीष शर्मा, प्रदीप राजपूत, रधु श्रीवास्तव, विक्की रोहित, डीके रोहित, लालू जैन, गीतेश अठ्या, गोलू साहू, जयपाल राजपूत, संजू यादव, द्वारका पटेल सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण की उपस्थिति रही और जनसंवाद यात्रा और यात्रियों को अपना पूर्ण समर्थन और आशीर्वाद दिया

 

Related posts

Leave a Comment