जिले में नवरात्रि, दशहरा एवं ईद मिलाद-उन-नवी पर्वो को कोविड-19 गाइड लाईन का पालन करते हुये आपसी सोहार्द्र भाईचारे से मनाया जायेगा शांति समिति की बैठक में लिया गया निर्णय

इस न्यूज़ को सुनें

जिले में नवरात्रि, दशहरा एवं ईद मिलाद-उन-नवी पर्वो को कोविड-19 गाइड लाईन का

 

पालन करते हुये आपसी सोहार्द्र भाईचारे से मनाया जायेगा

 

शांति समिति की बैठक में लिया गया निर्णय

 

दमोह : 04 अक्टूबर 2021

 

जिले में नवरात्रि, दशहरा एवं ईद मिलाद-उन-नवी पर्वो को कोविड-19 गाइड लाईन का पालन करते हुये अपसी सोहाद्र भाईचारे से मनाये जाने का निर्णय सामूहिक रूप से शांति समिति की बैठक में लिया गया। सभी से परस्पर सामाजिक दूरी का पालन और मास्क लगाकर कार्यक्रमों में शामिल होने की अपील की गई।

 

इस अवसर पर कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य ने शासन की निर्धारित गाइड लाइन की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कोलाहल अधिनियम के तहत ध्वनि विस्तारक यंत्रों का उपयोग सुनिश्चित किया जाये। साथ ही 30 X 45 के पंडाल और विर्सजन में 10 व्यक्ति अधिकतम शामिल हो सकेंगे तथा चल प्रदर्शन की अनुमति नहीं है। श्री चैतन्य ने कहा प्रशासन स्तर से कोविड-19 गाईड लाइन के तहत जो व्यवस्थाएं करनी है, कराई जायेगी। उन्होंने कहा समिति सदस्यों के सुझाव पारंपरिक रूप से त्यौहार बड़े आयोजन की बात को शासन तक पहुंचाया जायेगा, जो भी परिवर्तन आयेगा, यथा समय अवगत करा दिये जाने की बात कही। कलेक्टर श्री चैतन्य ने कहा विर्सजन कुण्ड बनाया जायेगा, इच्छुक लोग इस कुण्ड में विर्सजन कर सकते हैं। इस मौके पर सीईओ जिला पंचायत अजय श्रीवास्तव, अपर कलेक्टर नाथूराम गौड़, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिव कुमार सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी एवं शांति समिति के सदस्यगण मौजूद थे।

 

इसी अवसर पर पुलिस अधीक्षक डीआर तेनीवार ने कहा कोविड-19 गाइड लाइन के अनुरूप पर्व मनाया जाना है, आपकी बातें शासन को भेजी जायेंगी। उन्होंने कहा प्रतिमा स्थापना अनुमति ली जाये तथा समिति के सदस्यों की सूची थाने में दी जाये।

 

पुलिस अधीक्षक ने कहा अभी कोराना गया नहीं है, हमें गाइड लाइन का पालन करते हुये सभी पर्वो को हर्ष-उल्लास से मनाना है। उन्होंने यह भी कहा बिजली लाइन के नीचे मूर्ति स्थापना न की जाये। श्री तेनीवार ने विर्सजन कुण्ड में विर्सजन की बात रखी, जिसे समिति के सदस्यों ने सहमति देते हुये बेहतर व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराने की बात कही।

 

बैठक में तय किया गया विसर्जन के पूर्व 10 अक्टूबर को संयुक्त रूप से अधिकारी और समिति के सदस्यगण विर्सजन व कार्यक्रम स्थलों का विजिट कर लें, ताकि कोई समस्या न आये। बैठक में एडवोकेट गजेन्द्र चौबे, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष तेजीराम रोहित, आजम खान, अनुनय श्रीवास्तव, अमजद डायमंड, महेन्द्र दुबे और श्री राजपूत सहित अन्य सदस्यों ने पर्वो के आयोजन पर बात व सुझाव रखे।

Related posts

Leave a Comment